Home»Blog»ट्रेंडिंग » रमजान में डायबिटीक रोगी फॉलों करें ये टिप्स, नहीं बढ़ेगा शुगर

रमजान में डायबिटीक रोगी फॉलों करें ये टिप्स, नहीं बढ़ेगा शुगर

269 0
0
(0)

रमजान का महीना आ गया है. रमजान के महीने में इफ्तार के दावत की घरों में तैयारियां चल रही है. इस दौरान ग्रिल पर मसालेदार मीट भुनने की खुसबू, ताजी सिकी हुई ब्रेड और कई दूसरी रंग-बिरंगी लाजवाब डिशेज के बारे में सोचकर मुंह में पानी ही आ जाता है. रमजान के महीने में इफ्तार पार्टी का असली मजा तो इसी में आता है. रमजान के महीने में होने वाले इफ्तार के दावत में इतनी सारी चीजें खाने के लिए होती है कि उसमें से क्या खानी चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए, इसका ध्यान नहीं रहता है. लेकिन इस दौरान की गई लापरवाही त्योहारों का मजा किरकिरा कर सकते है. इस दौरान डायबिटीज के मरीजों को खान-पान का बहुत ध्यान रखना पड़ता है. आइये जानते हैं कि रमजान के महीने में डायबिटीज के मरीजों के किन चीजों का सेवन करना चाहिए और किन चीजों को नहीं.

Free Doctor Consultation Blog Banner_1200_350_Hindi

ये भी पढ़ें- रमजान के सेहरी और इफ्तार में रखें ये डाइट प्लान, नहीं लगेगी भूख-प्यास

डायबिटीज के मरीजों फास्टिंग का क्या पड़ता है प्रभाव (Fasting Effect on Diabetic Patients in Ramadan)

डायबिटीज के मरीजों को हमेशा हर 4 से 6 घंटे पर खाने की सलाह दी जाती है. जबकि रमजान के महीने में 11 से 16 घंटे का रोजा रखा जाता है, जिसमें न तो कुछ खाया जाता है और नही पीया. वहीं, यह गर्मियों के मौसम में होता है. जिसके चलते रोजा रखने वाले लोगों को और भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. वहीं, डायबिटीज के मरीजों को तो और भी परेशानी हो सकती है. रमजान के दौरान रोजा रखने पर डायबिटीज मरीज का ब्लड शुगर लेवल समान्य स्तर लेवल से नीचे आ सकता है. डायबिटीज के मरीजों को केटोएसिडोसिस का सामना करना पड़ सकता है. इसमें शरीर को सही मात्रा में ग्लूकोज नहीं मिलने पर शरीर को एनर्जी के लिए फैट बर्न होता है. जो आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है. वहीं, रोजा तोड़ने के दौरान इफ्तार में ज्यादा खाते हैं तो अचानक आपका शुगर लेवल बढ़ सकता है. जिससे आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. वहीं, रोजा के दौरान पर पानी पीना भी मना होता है, जिसकी वजह से आपको डिहाईड्रेशन का भी सामना करना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें- खाना खाने के बाद बस एक चुटकी खाएं सौंफ, मिलेंगे बेजोड़ फायदे: Benefits of Fennel in Hindi

रमजान के दौरान डायबिटीज मरीज ऐसे रखें अपना ध्यान (Ramadan Food for Diabetes in Hindi)

डायबिटीज के मरीज सहरी में खाएं ये चीजें (Ramadan Food for Diabetes in Sahri)

डायबिटीज के मरीजों को सहरी के दौरान उन चीजों का सेवन करना चाहिए, जिन्हें खाने से आप दिनभर एनर्जेटिक रहें. सहरी में फाइबर और स्टार्च से भरपूर चीजों का सेवन करें. इससे आपके शरीर में दिनभर एनर्जी बनी रहती है. सहरी के दौरान आप ओट्स, मल्टीग्रेन ब्रेड, ब्राउन राउस, दाल का सेवन करें. इसके साथ ही टोफू और ड्राइफ्रूट्स भी खा सकते हैं. इसके साथ ही सहरी के दौरान खाई जानी वाली चीजों में स्मूदी भी शामिल करें. इससे आप दिनभर हाइड्रेटेड रहेंगे. इनके अलावा आप सहरी की डाइट में दूध, दही और पनीर भी शामिल कर सकते हैं. वहीं, फाइबर का सेवन बढ़ाने के लिए सलाद को भी जरूर शामिल करें.

डायबिटीज के मरीज इफ्तारी में खाएं ये चीजें (Ramadan Food for Diabetes in Iftar)

हमेशा इफ्तारी की शुरुआत हल्के खाने से शुरू करें, जो जल्दी से शरीर में अवशोषित हो जाएं. जैसे- 1-2 खजूर या दूध. इनमें कार्बोहाइड्रेट भरपूर होता है और ये आपको तुरंत एनर्जी भी प्रदान करते हैं. इसके साथ ही ब्राउन राइस, मछली, टोफू और नट्स को भी शामिल कर सकते हैं. ये प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो आपके शरीर की प्रोटीन की पूर्ती करेंगे. वहीं, पानी मात्रा वाले फल और सब्जियों को शामिल करें. फाइबर का सेवन बढ़ाने के लिए भोजन में सलाद शामिल करें. पाचन को बेहतर रखने के लिए रात में सोने से पहले ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- आयुर्वेद में सहजन को बताया गया है 300 बीमारियों का रामबाण इलाज: Benefits of Drumstick in Hindi

इन चीजों का करें परहेज (Avoid Ramadan Food for Diabetes)

  1. रमजान के दौरान खाए जाने वाली सहरी के दौरान खट्टे फलों का सेवन नहीं करें. इससे आपको एसिडीटी हो सकती है.
  2. ज्यादा मात्रा में रोटी, चावल और आलू का सेवन करने से आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है.
  3. इफ्तार के समय तली-भुनी, चाट, कुल्फी, फालूदा और मिठाई का सेवन करने से परहेज करें.
  4. डायबिटीज के मरीजों को रमजान के महीने में रोजा रखने के दौरन नमकीन, मसालेदार, और मीठा खाने से परहेज करना चाहिए.
  5. रमजान के दौरान चाय या कॉफी का सेवन करने से बचें. इससे आपको डिहाइड्रेशन का सामना करना पड़ सकता है.

रमजान के दौरान डायबिटीज मरीज फॉलों करें ये लाइफस्टाल (Lifestyle for Diabetic Patients in Ramadan)

रमजान के महीने में रोजा रखने वाले डायबिटीज मरीजों को खान-पान के साथ ही अपनी लाइफस्टाइल का भी ध्यान रखने की जरूरत होती है. आइये जानते हैं कि डायबिटीज को मरीजों को रमजान के महीने के क्या लाइफस्टाइल अपनाना चाहिए.

  1. रमजान में रोजा रखने वाले डायबिटीज के मरीजों को नियमित रूप से अपना ग्लूकोज लेवल चेक करते रहना चाहिए.
  2. रोजा रखने के दौरान भी हल्की-फुल्की कसरत जरूर करें, लेकिन ज्यादा थकाने वाले वर्क आउट को शामिल नहीं करें. इससे आपके मांसपेशियों की ताकत कम नहीं होती है.
  3. रमजान के दौरान रोजा रखने वाले लोगों को पर्याप्त और गहरी नींद जरूर लेनी चाहिए. इससे आपकी सेहत अच्छी और बॉडी फिट रहती है. इससे डायबिटीज के मरीजों को ब्लड ग्लूकोज लेवल कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है.

ये भी पढ़ें- अदरक से वजन-डायबिटीज-बीपी सबकुछ होगा कंट्रोल, जानें खाने के गजब के फायदे: Benefits of Ginger in Hindi

ऑनलाइन शुगर टेस्टिंग मशीन खरीदना कभी इतना आसान नहीं रहा, BeatO का सर्वश्रेष्ठ ग्लूकोमीटर आजमाएँ और अभी अपना ब्लड शुगर लेवल चैक करें।

डिस्क्लेमर: इस लेख में बताई गयी जानकारी सामान्य और सार्वजनिक स्रोतों से ली गई है। यह किसी भी तरह से चिकित्सा सुझाव या सलाह नहीं है। अधिक और विस्तृत जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से परामर्श लें। BeatoApp इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

BeatO स्टाफ राइटर

BeatO स्टाफ राइटर

BeatO इन-हाउस राइटिंग टीम द्वारा प्रकाशित रचनात्मक रूप से लिखे गये सेहत संबंधी लेख।

Leave a Reply

Index