Home»Blog»ट्रेंडिंग » Gliptagreat 500m Uses in Hindi: डायबिटीज मरीजों के लिए रामबाण है ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट

Gliptagreat 500m Uses in Hindi: डायबिटीज मरीजों के लिए रामबाण है ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट

101 0
gliptagreat 500m uses in hindi
0
(0)

Gliptagreat 500m uses in hindi: ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट दो दवाओं का मिश्रण होता है जो मुख्य रूप से टाइप 2 डायबिटीज मरीजों में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने का काम करता है। वैसे तो ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट को सभी डायबिटीज दवाएं स्वस्थ्य फूड और नियमित व्यायाम के साथ प्रयोग करने पर अच्छी तरह से काम करती हैं। जब अकेले डाइट और एक्सरसाइज या अन्य दवाएं ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में सहायक नहीं होती हैं तब ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट मरीज को देते हैं।

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट (Gliptagreat M 500 Tablet) को भोजन के साथ लेने से आपके पेट के खराब होने की संभावना कम हो जाती है। हालांकि, आप ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट को भोजन के बिना भी ले सकते हैं। ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेने की जरूरत है। बता दें कि ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का प्रयोग टाइप 2 डायबिटीज मेलिटस के इलाज के लिए ही किया जाता है और यह ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। हालांकि, विल्डाग्लिप्टिन या मेटफॉर्मिन केवल डाइट और व्यायाम के साथ-साथ ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में प्रभावी नहीं होता है।

Free Doctor Consultation Blog Banner_1200_350_Hindi (1)

अगर आप ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का ज्यादा से ज्यादा फायदा लेने चाहते हैं तो इसके लिए आपको नियमित रूप से हर दिन एक तय समय पर ही ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन कर लें या जब तक डॉक्टर इस टैबलेट का सेवन करने से मना नहीं कर दें, तब तक इसका सेवन बंद नहीं करें। इसके अलावा ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: ड्रैगन फ्रूट खाने से मिलते हैं कई फायदे, इन समस्याओं का खतरा होता है कम

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने से पहले बरती जाने वाली सावधानियां:

  • ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट लेने से पहले शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • गर्भावस्था के दौरान ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करना खतरनाक हो सकता है। एक अध्ययन में दावा किया गया है कि ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का गर्भवती महिलाओं द्वारा प्रयोग करने पर उनके बच्चे पर इसका हानिकारक पड़ सकता है।
  • जो महिलाएं स्तनपान (ब्रेस्टफीडिंग) कराती हैं उनके लिए ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करना असुरक्षित माना जाता है। एक रिसर्च में दावा किया गया है कि ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट मां के दूध में घुल जाती है और यह बच्चे को नुकसान भी पहुंचा सकती है।
  • किडनी की समस्या से पीड़ित लोगों को ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन बहुत सावधानी के साथ करना चाहिए।
  • लीवर से संबंधित समस्याओं का सामना कर रहे लोगों को ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट के इस्तेमाल से बचना चाहिए।
  • अगर आपको पैंक्रियाज में सूजन, किडनी से संबंधित समस्या और विटामिन बी12 की कमी रही है तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क कर उन्हें अपनी स्थिति के बारे में पूरी तरह अवगत कराना चाहिए।
  • अगर आप सप्लीमेंट या हर्बल्स ले रहे हैं तो आपको ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने को लेकर अपने डॉक्टर से उचित परामर्श लेना चाहिए।
  • ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट 18 साल से कम उम्र के मरीजों को नहीं दिया जाता है।

ये भी पढ़ें: महिलाओं को पीरियड्स के दर्द से राहत दिलाता है विटामिन E कैप्सूल

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का फायदा (Gliptagreat M 500 Tablet
Benefits)

ब्लड ग्लूकोज लेवल के कंट्रोल नहीं होने से किडनी खराब होने, आंखें खराब होना और नसों से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ब्लड शुगर को कंट्रोल रखने पर दिल से संबंधित समस्याओं और स्ट्रोक के खतरे को भी कम किया जा सकता है। ऐसे में शरीर का ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल होना बहुत जरूरी होता है।

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने से शरीर में भोजन के बाद पैदा होने वाले इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। यह आपके शरीर को ब्लड में शुगर रिलीज करने से रोकने का काम करता है। ऐसे में यह आपके शरीर का ब्लड शुगर लेवल कम कर देता है। यह शुगर से संबंधित समस्याओं जैसे आंखों की रौशनी और किडनी खराब होने से बचाता है। इसके अलावा यह नसों से जुड़ी समस्याओं से भी बचाता है।

ये भी पढ़ें: डार्क सर्कल्स से आ गई है खूबसूरती में कमी, तो अपनाएं यह बेहतरीन घरेलू उपाय

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट के साइड इफेक्ट्स (Gliptagreat M 500 Tablet Side effects)

  • सिर दर्द
  • मतली आना
  • कमजोरी
  • ज्यादा पसीना निकलना
  • भूख में कमी
  • लो ब्लड शुगर
  • उल्टी
  • दस्त
  • पेट में दर्द
  • भूख न लगना
  • जोड़ों में दर्द थकान
  • कब्ज
  • हाथ या पैर में सूजन
ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट के साइड इफेक्ट्स

अगर ऊपर दर्शाए गए साइड इफेक्ट्स लंबे समय तक रहते हैं तो इस संबंध में आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और उनके द्वारा बताए गए तरीकों का पालन करना चाहिए। अगर आप इंसुलिन या सल्फोनील्यूरिया ले रहे हैं तो लो-ब्लड ग्लूकोज लेवल की समस्या हो सकती है। अगर आप पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं या किसी समस्या के लिए कोई दवा ले रहे हैं तो आपको ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट लेने से पहले अपने डॉक्टर से बातचीत करनी चाहिए।

ये भी पढ़ें:खांसी को कहिये गुड बाय और अपनाएं ये बेहतरीन घरेलू उपचार

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का कैसे करें सेवन:

  • आप एक गिलास पानी के साथ ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन कर सकते हैं।
  • आप बिना डॉक्टर को बताए ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन बिल्कुल भी नहीं करें। डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए।
  • ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने से आप पहले अपने डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में सबकुछ बता दें।

ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का कैसे करें स्टोर:

  • ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट को ठंडे और सुरक्षित स्थान पर स्टोर करना चाहिए। इससे यह प्रत्यक्ष सूर्य की रोशनी, नमी और गर्मी से सुरक्षा देता है।
  • ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट को बच्चे और पालतू जानवरों के संपर्क से दूर रखना चाहिए।
  • जो ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का प्रयोग नहीं किया गया है उसे नष्ट कर देना चाहिए।
  • ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट को टॉयलट में फ्लश करने या ड्रेन में फेंकने से बचना चाहिए।

ये भी पढ़ें:केजरीवाल भी हैं डायबिटीज से परेशान, डायबिटिक को कब और क्यों जरूरत है इंसुलिन की?

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

सवाल: ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट को कितने समय तक ले सकते हैं?

जवाब: यह डॉक्टर जांच के माध्यम से बताते हैं कि आप पर दवा का असर कैसा रहा है और कितने दिनों तक दवा का सेवन करना चाहिए।

सवाल: क्या ग्लिप्टाग्रेट एम 500 का सेवन हमारे लीवर के स्वास्थ्य के लिए सही है?

जवाब:ग्लिप्टाग्रेट एम 500 का सेवन करने से आपके लीवर को हानिकारक परिणामों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से तुरंत सलाह लेने की जरूरत है।

सवाल: क्या स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करना सही है?

जवाब: स्तनपान कराने वाली महिलाएं ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन कर सकती हैं। हालांकि, अगर उन्हें किसी भी तरह का बदलाव चाहिए तो उसके लिए उन्हें अपने डॉक्टर से उचित परामर्श लेने की जरूरत है।

सवाल: क्या ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

जवाब: ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट के सेवन से गर्भवती महिलाओं को कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं। अगर गर्भवती महिलाओं को ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट के सेवन से किसी भी तरह का कोई साइड इफेक्ट होता है तो उन्हें तुरंत इसका सेवन बंद कर देना चाहिए और इस संबंध में अपने डॉक्टर से सलाह लेने की जरूरत है।

सवाल: क्या ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने के बाद गाड़ी चलाना सुरक्षित होता है?

जवाब: ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन करने के बाद आपको नहीं चलाना चाहिए। यह खतरनाक हो सकता है।

सवाल: क्या ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन मानसिक समस्याओं के इलाज के लिए कर सकते हैं?

जवाब: नहीं, आप मानसिक समस्याओं के इलाज में ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन नहीं कर सकते हैं।

सवाल: क्या ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन बीच में बंद किया जा सकता है?

जवाब: नहीं। बिना डॉक्टर से परामर्श लिए ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का सेवन नहीं करना चाहिए। दवा को अचानक बंद करने से आपके ब्लड ग्लूकोज लेवल में अचानक बढ़ोत्तरी हो सकती है और ऐसे में यह किडनी या अन्य अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है।

सवाल: अगर ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट की खुराक लेना भूल गए?

जवाब: अगर आप ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट की खुराक लेना भूल गए हैं तो इसमें चिंता की कोई बात नहीं है। हालांकि, यह एक तरह की लापरवाही है, जिसे आपको सुधारने की जरूरत है। बहरहाल, ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट की खुराक भूलने पर छूटी हुई खुराक को भूल जाना चाहिए और इसका नियमित खुराक शिड्यूल के साथ जारी रखे रहना होगा। आपकी जो खुराक छुट गई है उसकी भरपाई करने के लिए डबल खुराक नहीं लें। ऐसा करने से आपको दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है।

सवाल: अगर ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट की खुराक तय खुराक से ज्यादा ले लेते हैं तो क्या होता है?

जवाब: अगर आप ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट का तय खुराक से ज्यादा सेवन करते हैं तो आपको लैक्टिक एसिडोसिस हो सकता है। लैक्टिक एसिडोसिस के लक्षण पेट में बेचैनी, भूख में कमी, दस्त, तेज या कम सांस लेना, मांसपेशियों में दर्द या ऐंठन, नींद आना, कमजोरी आदि है। अगर आपने ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट की ओवरडोज ले ली है तो ऐसे में आपको डॉक्टर से बातचीत कर परामर्श लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें:एसिडिटी से परेशान: अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

उम्मीद है आपको इस लेख से ग्लिप्टाग्रेट एम 500 टैबलेट के बारे में विस्तार से जानकारी मिल गई होगी। अपने नॉन-वेरिफाइड ग्लूकोमीटर का इस्तेमाल बंद करें और BeatO का चिकित्सकीय रूप से प्रमाणित ग्लूकोमीटर किट अपनाएं और तुरंत अपने शुगर लेवल की जाँच करें। सही डायबिटीज मैनेजमेंट के लिए BeatO डायबिटीज केयर प्रोग्राम का हिस्सा बनें।

बेस्ट डायबिटीज केयर के लिए BeatOऔर डॉ. नवनीत अग्रवाल को चुनें। डायबिटीज में विशेषज्ञता के साथ, हमारी टीम बेहतर स्वास्थ्य मार्गदर्शन प्रदान करते हैं। इसलिए बिना देरी के अपना वर्चुअल परामर्श बुक करें।

डिस्क्लेमर: इस लेख में बताई गयी जानकारी सामान्य और सार्वजनिक स्रोतों से ली गई है। यह किसी भी तरह से चिकित्सा सुझाव या सलाह नहीं है। अधिक और विस्तृत जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से परामर्श लें। BeatoApp इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Anand Kumar

Anand Kumar

आनंद एक पत्रकार होने के साथ-साथ कंटेट राइटर भी हैं। फिलहाल वह BeatO पर हेल्थ से जुड़े विषयों पर लिख रहे हैं। उन्होंने कई मीडिया संस्थानों के साथ काम किया है। उनके पास मीडिया में काम करने का 4 साल से ज्यादा का अनुभव है। उन्होंने राजनीतिक-सामाजिक विषयों पर ग्राउंड रिपोर्टिंग के साथ-साथ विभिन्न प्लेटफार्मों के लिए कई लेख भी लिखे हैं।

Leave a Reply

Index